IPC Section 503 in Hindi - आईपीसी सेक्शन 503 क्या है ? - Legal Gyan | Law Gyan | Legal Knowledge | Knowledge of Law

Information About Indian Law's. Legal Gyan. Knowledge of Legal Sections.

Top Topics

Friday, December 7, 2018

IPC Section 503 in Hindi - आईपीसी सेक्शन 503 क्या है ?



IPC Section 503 in Hindi - आईपीसी सेक्शन 503 क्या है ?

IPC Section 503 के तहत आपराधिक अभीत्रास  अपराध आते हैं ।

आपराधिक अभीत्रास -  जो कोई किसी अन्य व्यक्ति के शरीर, संपत्ति को या किसी ऐसे व्यक्ति के शरीर या उसकी संपत्ति को जिससे कि वह व्यक्ति लाभप्रद हो, कोई क्षति करने की धमकी इस आशय से देता है कि उसे खत्म किया जाए या  उसे ऐसी धमकी के निष्पादन का परिवर्तन करने के साधन स्वरूप कोई ऐसा कार्य कराया जाए, जिसे करने के लिए वह अवैध रूप से आबद्ध न हो या किसी ऐसे कार्य को करने का लोप कराया जाए, जिसे वह करने के लिए वैध रूप से हकदार हो वह आपराधिक अभीत्रास करता है।

साधारण शब्दों में - आईपीसी सेक्शन 503 के तहत वे सभी अपराध आपराधिक अभीत्रास की श्रेणी में आते हैं जिसके अंतर्गत कोई एक व्यक्ति किसी दूसरे व्यक्ति को किसी कार्य को करने की धमकी देता है ताकि वह उस कार्य को ना करके धमकी देने वाले इंसान के लिए ऐसा कार्य करें जिससे धमकी देने वाले इंसान का फायदा हो जैसे - राम ने श्याम को धमकी दी कि अगर वह उसके द्वारा कराया हुआ केस, जो न्यायालय द्वारा चल रहा है वापस नहीं लेगा तो वह उसे जान से मार देगा या उसके किसी रिश्तेदार को मार देगा इस प्रकार राम ने श्याम को धमकी देकर आपराधिक अभीत्रास की श्रेणी में आ गया तथा दोषी पाया जाएगा।


IPC Section 503 in Hindi
IPC Section 503 in Hindi



स्पष्टीकरण - किसी ऐसे मरे हुए व्यक्ति की ख्याति को क्षति करने की धमकी, जिससे वह व्यक्ति, जिसे धमकी दी गई है यह हितबंध हो इस धारा के अंतर्गत आता है।
सजा - आईपीसी सेक्शन 503 के अंतर्गत दोषी को 2 साल तक की सजा का प्रावधान है
अगर आपको पोस्ट अच्छा लगा हो या आपके काम का हो तो या आपको कोई हेल्प लेनी होतो आप हमे निचे दिए गए लिंक्स पर फॉलो करके हमसे अपना सवाल पूछ सकते है  

Follow Us:

Join Our Groups :


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad