भारतीय दंड संहिता 1860 सेक्शन 7,8,9,10,11 क्या है ? - Legal Gyan

Information about Law

Top Topics

Thursday, November 22, 2018

भारतीय दंड संहिता 1860 सेक्शन 7,8,9,10,11 क्या है ?

भारतीय दंड संहिता 1860 सेक्शन 7,8,9,10,11 क्या है ?

भारतीय दंड संहिता की धारा 7 क्या है?

एक बार स्पष्टीकरण पद का भाव - हर पद जिसका स्पष्टीकरण इस संहिता के किसी भाग में किया गया है 
संहिता के हर भाग में उस  स्पष्टीकरण के अनुरूप ही प्रयोग किया गया है ।


लिंग - पुलिंग वाचक शब्द जहां प्रयोग किए गए हैं वह हर व्यक्ति के बारे में लागू है चाहे नर हो या नारी ।



वचन - जब तक की संदर्भ से तत प्रतिकूल प्रतीत ना हो, एक वचन को घातक शब्दों के अंतर्गत बहुवचन आता है और बहुवचन को घातक शब्दों के अंतर्गत एक वचन आता है ।

भारतीय दंड संहिता की धारा 10 क्या है?


"पुरुष" "स्त्री" - "पुरुष" शब्द किसी भी आयु के मानव नर का शब्द है।  "स्त्री" शब्द किसी भी युग की नारी का शब्द है।


भारतीय दंड संहिता की धारा 11 क्या है?


व्यक्ति - कोई भी कंपनी यहां संगम या व्यक्ति निकाय चाहे वह निगमित हो या नहीं व्यक्ति के शब्द के अंतर्गत आता है।

अगर आपको पोस्ट अच्छा लगा हो या आपके काम का हो तो या आपको कोई हेल्प लेनी होतो आप हमे निचे दिए गए लिंक्स पर फॉलो करके हमसेअपना सवाल पूछ सकते है !


No comments:

Post a Comment