भारतीय दंड संहिता 1860 सेक्शन 5 और 6 क्या है ? - Legal Gyan | Law Gyan | Legal Knowledge | Knowledge of Law

Information About Indian Law's. Legal Gyan. Knowledge of Legal Sections.

Top Topics

Tuesday, November 20, 2018

भारतीय दंड संहिता 1860 सेक्शन 5 और 6 क्या है ?

भारतीय दंड संहिता 1860 सेक्शन 5 और 6 क्या है ?

भारतीय दंड संहिता की धारा 5 क्या है?

भारतीय दंड संहिता की धारा 5 = कुछ विधियों पर इस अधिनियम द्वारा प्रभाव ना डाला जाना !

इस अधिनियम में की कोई बात भारत सरकार की सेवा के अफसरों, सैनिकों नौसैनिकों या वायु सैनिकों द्वारा विद्रोह और उनको दंडित करने वाले किसी अधिनियम के उपबंध यहां किसी विशेष या स्थानीय विधि के बंदों पर प्रभाव नहीं डालेगी !

सरल भाषा में कहा जाए कि किसी भी बात के लिए सरकारी अफसर व सरकारी किसी भी नागरिक को दंडित नहीं किया जाएगा ना ही उन्हें तंग किया जाएगा !
भारतीय दंड संहिता की धारा 6 क्या है?

इस संहिता में सर्वत अपराध की हर परिभाषा, हर दंड उपबंध और, हर ऐसी परिभाषा या दंड उपबंध का हर दृष्टांत साधारण अपवाद शीर्षक वाले अध्याय में अंत वरिष्ठ विवादों के अधीन समझा जाएगा चाहे उन अपराधों को किसी परिभाषा अनुबंध दृष्टांत में दोहराया न गया हो !

दृष्टांत - 
1. इस संहिता की वे धाराएं जिनमें अपराधों की परिभाषाएं अंत दृष्ट है यह अभिव्यक्त नहीं करती कि 7 वर्ष से कम आयु का शिशु ऐसे अपराध नहीं कर सकता किंतु परिभाषाएं वह साधारण अपवाद के अधीन समझी जानी है जिसमें यह उपबंध इस है कि कोई बात जो 7 वर्ष से कम आयु के शिशु द्वारा की जाती है अपराध नहीं है !

2. राम एक पुलिस ऑफिसर वारंट के बिना श्याम को जिसने हत्या की है पकड़ लेता है यहां राम संदोष परीरोध के अपराध का दोषी नहीं है किंतु वह श्याम को पकड़ने के लिए विधि द्वारा अपहृत था और इसलिए यह मामला उस साधारण अपवाद के अंतर्गत आ जाता है जिसमें यह संदेश है कि कोई बात अपराध नहीं है जो किसी ऐसे व्यक्ति द्वारा की जाए तो उसे करने के लिए विधि द्वारा बंधित हो !

अगर आपको पोस्ट अच्छा लगा हो या आपके काम का हो तो या आपको कोई हेल्प लेनी हो, तो आप हमे निचे दिए गए लिंक्स पर फॉलो करके हमसेअपना सवाल पूछ सकते है !  



No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad